Wednesday, February 22, 2017

संभागीय बालभवन, जबलपुर



कार्यालय संचालक संभागीय बाल-भवन     (महिला सशक्तिकरण जबलपुर
फोन :-  0761-2401584 , balbhavanjbp@gmail.com

जबलपुर जिले में संभागीय बालभवन की स्थापना मई 2007 से संचालित है. 
1.              उद्देश्य :- बच्चों में सृजनात्मकता को बढ़ावा  देने के लिए ऐसी गतिविधियों का संचालन करना जिससे  बच्चों की सृजनशीलता की पहचान कर उनकी अभिरुचि अनुसार सृजनक्षमता को समुचित अवसर दिया जा सके .
2.              लक्ष्य :- आयुवर्ग 05 से 16 वर्ष तक के बालक-बालिकाओं को संगीत चित्रकला, कम्प्यूटर प्रशिक्षण, खेलकूद, अभिनय, साहित्य- सृजनात्मक साहित्य  लेखन गद्य-पद्य व्यक्तित्व विकास संवाद एवं सम्प्रेषण, मार्शल आर्ट आदि का प्रशिक्षण उनकी अभिरुचि के अनुसार देकर उनको विधा/योग्यतानुसार मंच प्रदान कराना ,   ”
संचालित संभागीय बाल भवन में निम्नानुसार गतिविधियां नियमित रुप से संचालित है
1-             संगीत  गायन  में लोक, शास्त्रीय, सुगमवादन में ताल-वाध्य, स्वर-वाद्य, का प्रशिक्षण दिया  जाता है.    
2-             चित्रकला- क्रॉप्ट वर्कमूर्तिकला, चित्रकला, प्रशिक्षण दिया  जाता है.   3- कम्प्यूटर प्रशिक्षण  ग्राफिक्स डिजाईन, डिज़िटल वर्क   
4- खेलकूद- इनडोर एवं आउटडोर खेल,
5- पाककला साप्ताहिक शिविर के ज़रिये पौष्टिक आहार बनाना, फायर-लेस कुकिंग,
      6- 30 दिवसीय शौर्या शक्ति आत्मरक्षा प्रशिक्षण-  विशेष रुप से बालिकाओं  हेतु , इस प्रशिक्षण  के तहत कराते, भारतीय मार्शल आर्ट कलरई-पयटट द्वारा आकस्मिक परिस्थिति में हुए आक्रमण , छेड़छाड़ से बचाव हेतु बालिकाओं में आत्मविश्वास को बढाने के उद्देश्य से ब्लाकिंग, पंचिंग, फाइटिंग की सुव्यवस्थित ट्रेनिंग दी जाती है. यह प्रशिक्षण 30 दिवस का है जिसमें अवकाश शामिल नहीं है 
7. अभिनय :- संवाद लेखन, प्रस्तुति, लोक एवं  बाल नाट्य , प्रोसेनियम, नुक्कड़ नाटक.
8- साहित्य :-  सृजनात्मक साहित्य  लेखन गद्य-पद्य संवाद ,
9- व्यक्तित्व विकास :- बच्चों में संवाद एवं सम्प्रेषण की क्षमता के विकास के लिए शिविर लगाकर प्रशिक्षण दिया जाता है. साथ ही प्रति बुधवार नैतिक तथा प्रेरक शिक्षण की व्यवस्था है.    
उपलब्धियां
इस संस्थान में प्रशिक्षित कु. ख़ुशी पॉल 2010, मास्टर संतलाल पाठक 2012, मास्टर रोहित गुप्ता 2013, मास्टर शुभमराज अहिरवार 2014 , को पूर्व वर्षों में तथा वर्ष  2015  कुमारी श्रेया खंडेलवाल एवं मास्टर अभय सौंधिया को राष्ट्रीय स्तर के बालश्री सम्मान प्राप्त हुए है. साथ ही वर्ष 2016 में  4 बच्चों समूहगान स्पर्धा में  मास्टर आदर्श अग्रवाल, मास्टर अब्दुल रहमान, मास्टर चन्दन सेन, मास्टर प्रगीत शर्मा को राष्ट्रीय स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है.
बालश्री चयन 2016
वर्ष 2017-18 में वर्ष  2016   के लिए राज्य स्तरीय बालश्री  चयन शिविर हेतु नामांकित 19  बच्चों में से 08 बच्चे क्रमश: बीनस खान, वैशाली बरसैंया, अंकुर विश्वकर्मा, शिखा पटेल, साक्षी साहू, देवांशी जैन, अंकित बेन, राजश्री चौधुरी का चयन 21 से 24 मार्च 2018 तक नॅशनल बालभवन में आयोजित  राष्ट्रीय बालश्री  चयन शिविर हेतु  चयनित हुए हैं.   
                                  ऑडियो एलबम
              प्रादेशिक स्तर पर बालभवन द्वारा शासकीय योजनाओं के प्रचार प्रसार हेतु दो एलबम लाडो मेरी लाडो, तथा लाडो-पलकें झुकाना नहीं तथा नगर निगम जबलपुर के लिए स्वच्छता सन्देशएलबम तैयार किये जा चुके हैं


थियेटर
संभागीय बालभवन जबलपुर द्वारा 2017 में बॉबी एवं मिला तेज़ से तेज नाटक तैयार किए गए जिनमें बॉबी का मंचन भोपाल में दो बार जबलपुर में 3 बार किया गया जबकि तेज़ से तेज नाटक की 3 प्रस्तुतियां जबलपुर में हो चुकीं हैं. 11 अप्रैल 2018 को भोपाल में इसका मंचन किया जावेगा.
नई दुनिया जबलपुर के सहयोग से “लौट आओ गौरैया” का एक सप्ताह तक मंचन शहर के स्कूलों एवं सार्वजनिक स्थानों में किया गया. साथ ही नगर निगम जबलपुर के स्वच्छता अभियान, पर्यावरण विभाग को  सहयोग करते हुए बालभवन द्वारा नुक्कड़ किये गए .
बालभवन की सीनियर छात्रा कुमारी मनीषा तिवारी प्रथम बालिका नाट्य निर्देशक के रूप में जानी जातीं हैं.    
______________________________________________

बाल विवाह की कुरीति के खिलाफ जन-जागरण के लिए जबलपुर की कुमारी इशिता विश्वकर्मा को अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस पर भोपाल के जवाहर बाल भवन में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम में लाडो सम्मान पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया गया। इशिता को यह सम्मान कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एवं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदान किया।
मध्यप्रदेश शासन द्वारा बाल विवाह की रोकथाम के लिए चलाये जा रहे लाडो अभियान की ब्राण्ड एम्बेसेडर 15 वर्ष की इशिता महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित संभागीय बाल भवन जबलपुर की संगीत की तथा सेन्ट्रल स्कूल जी.सी.एफ. नम्बर-एक की दसवीं कक्षा की छात्रा है।
इशिता लाडो अभियान के थीम गीत “लाडो मेरी लाडो” की मुख्य गायिका है। गीत-संगीत के प्रति बचपन से ही लगाव रखने वाली इशिता के पिता अंजनी विश्वकर्मा और मां तेजल विश्वकर्मा का भी संगीत एवं गायन के क्षेत्र में अच्छा स्थान है । टेलीविजन एवं स्टेज शो में भी अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुकी इशिता ने पांच वर्ष की आयु में ही संभगीय बाल भवन जबलपुर में संगीत की शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रवेश ले लिया था। वह बाल भवन की संगीत शिक्षिका डाक्टर सुप्रिया सुल्लेरे की शिष्या है।

अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस ( 08 मार्च 2018 ) पर भोपाल में आयोजित राज्य स्तरीय समारोह में मुख्यमन्त्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा इशिता को लाडो सम्मान’ के साथ ही 51 हजार रूपये का चेक भी प्रदान किया गया। समारोह में प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनीस व महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री ललिता यादव भी मौजूद थीं ।


___________________________________________________

टाक शो
संभागीय बालभवन द्वारा जबलपुर प्रवास में आए राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय  अतिथि कलाकारों लेखको साहित्यकारों, वक्ताओं अधिकारियों  के साथ टाक शो का आयोजन किया जाता है. विगत वर्ष श्रीमती प्रज्ञाऋचा श्रीवास्तव, आई पी एस श्री शशांक गर्ग, (वक्ता-साहित्यकार एवं एडी. एस पी होसंगाबाद), श्री राहुल शाकल्य (रंग-कर्मी एन एस डी), श्री प्रहलाद अग्रवाल फिल्म समीक्षक लेखक, श्री सत्यदेव त्रिपाठी फिल्म समीक्षक, श्री मोहन शशि, श्री प्रतुल श्रीवास्तव, आदि के अलावा कोड रेड दल के सदस्य टाक-शो में शामिल हुए .

अन्य संस्थाओं के सहयोग से आयोजित गतिविधियाँ
1.     माता गुज़री कन्या महा विद्यालय :- शौर्या शक्ति आत्मरक्षा पाठ्यक्रम प्रशिक्षण  , बालिकाओं के लिए लाडो अभियान, एवं बेटी बचाओ बेटी पढाओ विषय एक दिवसीय  कार्यशाला का आयोजन
2.     बिदाम बाई  विद्यालय :- शौर्या शक्ति आत्मरक्षा पाठ्यक्रम प्रशिक्षण ,
3.     सेठ गोविन्द दास  कन्या महा विद्यालय :- शौर्या शक्ति आत्मरक्षा पाठ्यक्रम प्रशिक्षण
4.     मान कुंवर बाई  कन्या महा विद्यालय :- शौर्या शक्ति आत्मरक्षा पाठ्यक्रम प्रशिक्षण
5.     नचिकेता इन्स्टीटयूट पाटन बाईपास :- शौर्या शक्ति आत्मरक्षा पाठ्यक्रम प्रशिक्षण 
6.      शासकीय कन्या महाविद्यालय बरगी    :- शौर्या शक्ति आत्मरक्षा पाठ्यक्रम प्रशिक्षण 
7.      सरस्वती शिशुमंदिर गढा फाटक :- शौर्या शक्ति आत्मरक्षा प्रदर्शन
8.     हैल्प बाय हैल्प एन जी ओ         :-  सांस्कृतिक संध्या
9.     नाट्यलोक जबलपुर                 :- बॉबी नाटक का 5 बार प्रदर्शन
10.    प्रगल्भ                                   :- साहित्यिक सांस्कृतिक प्रतियोगिताएँ 
11.    संयुक्त संचालक बाल विकास सेवा :- बालिका-दिवस
12.        मुक्ति फाऊडेशन  :- वृद्धाश्रम जबलपुर में सांस्कृतिक आयोजन 26 जनवरी 17 एवं 15 अगस्त 2017 को प्रस्तुत किये गए.
13. विवेचना रंगमंडल :- इस वर्ष संभागीय बाल भवन जबलपुर द्वारा विवेचना रंगमंडल नामक संस्था के सहयोग से  
13.  महिला बाल विकास :-  26 जनवरी 18 महिला बाल विकास की  झांकी के  निर्माण हेतु लगातार पांचवे साल प्रथम स्थान प्राप्त किया 
14.  व्यक्तित्व विकास , संचारएवं नैतिक शिक्षा :- संभागीय बालभवन जबलपुर द्वारा मार्च माह में 10 दिवसीय विशेष प्रशिक्षण दिया जा रहा है. जिसमें 87 बच्चे सम्मिलित हैं . सत्र दो भागों में जूनियर एवं सीनियर ग्रुप के लिए संचालित है .                              
मान्यता
संभागीय बालभवन को 2017 से  राजा मानसिंह तोमर संगीत विश्वविद्यालय से संगीत / कला / अभिनय हेतु  मान्यता  प्राप्त हो चुकी है .प्रथम वर्ष 53 बच्चे विश्विद्यालयीन परिक्षा में शामिल हुए हैं. 
हमारे प्रशिक्षक / सहयोगी
1.     भाषा /  साहित्य  :- गिरीश बिल्लोरे, संचालक, (सहायक संचालक स्तर)
सभी अनुबंधित /  अतिथि प्रशिक्षक-  हिन्दी उर्दू :-  इरफान झांसवी डा संध्या जैन श्रुति, श्रीमती साधना उपाध्याय, डा संध्या शुक्ला मृदुलअंग्रेज़ी -  श्रीमती अचला बिल्लोरे,  तमिल एवं अंग्रेज़ी  श्रीमती शांता अईयर
2.     संगीत    :- डा. शिप्रा सुल्लेरे , एम. ए. पी एच डी (संगीत)
       अतिथि प्रशिक्षक :-  श्री अनिमेष तिवारी  श्री अभय सोहले, श्री मिठाई लाल चक्रवर्ती ,  
3.     कला :- श्रीमती रेनू पांडे  
       अनुबंधित  अतिथि प्रशिक्षक -  श्रीमती निशा गौर, कुमारी रेशम    
       ठाकुर,श्रीमती कीर्ति मिश्रा    
4.     खेल       :- श्री देवेन्द्र यादव , एम. पी.एड. ,
5.     तालवाद्य :- श्री सोमनाथ सोनी एम. ए. (तबला)
6.     अभिनय  :- श्री संजय गर्ग , बाल-नाट्य निर्देशक
        अनुबंधित  अतिथि प्रशिक्षक, संजय पटैरिया, श्री दविंदर सिंह ग्रोवर, श्री संतोष राजपूत , श्री अरुण पांडे, विवेचना रंगमंडल, नाट्य लोक ,
7.     नृत्य  :- नृत्य विधा के पद स्वीकृत न होने के कारण कार्यशालाओं के माध्यम से प्रशिक्षण दिया जाता है. 
 श्री इंद्र पाण्डेय ( लोक) कुमारी महिमा गुप्ता (भारत-नाट्यम) कुमारी कु. दीक्षा     नेमा , कुमारी प्रभूता चौबे, कु. रूचि केशरवानी  ,
8.     मार्शलआर्ट :- कराते -  श्री नरेन्द्र गुप्ता (5 डॉन ब्लैक बैल्ट), कलरई-पयट अमित सुदर्शन,    (अनुबंधित  अतिथि प्रशिक्षक),
9.     हस्तकला   :-  श्रीमती दिव्या चांदवानी (अनुबंधित  अतिथि प्रशिक्षक), श्रीमती रश्मि सिंह,
10.     नैतिक शिक्षा एवं व्यक्तित्व विकास  :- श्रीमति अपर्णा तिवारी, ( सत्य साईं सेवा समिति ) एवं कुमारी प्रगति पांडे , एडवोकेट सुश्री सुनंदा केशरवानी   
11.   योग  :- श्रीमती स्मिता उपाध्याय ( अनुबंधित  अतिथि प्रशिक्षक ),
12.    पोषण शिक्षा :- श्रीमती दीप्ती पारे
13.    टेक्सटाइल प्रिंटिंग :- सुश्री शैलजा सुल्लेरे 
14.            

आफिस स्टाफ
1.            लेखा शाखा :- प्रभारी श्रीमती विजय लक्ष्मी अईयर प्रशिक्षित लेखा पाल
2.            स्थापना :-      प्रभारी श्रीमती विजय लक्ष्मी अईयर प्रशिक्षित लेखा पाल
3.            प्रोग्राम शाखा  :- प्रभारी श्रीमती मीना सोनी लेखा प्रशिक्षित      
4.            भण्डार शाखा :-  प्रभारी श्रीमती मीना सोनी
5.            पंजीयन शाखा :-  प्रभारी श्रीमती मीना सोनी
6.             मानसिंह तोमर वि वि संबंधी कार्य :- 
                    समन्वयक           :- डा शिप्रा सुल्लेरे 
                    सहायक समन्वयक :- श्रीमती मीना सोनी 
                    सब स्टाफ           :- श्री राजेन्द्र श्रीवास्तव   
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::


No comments:

Post a Comment

Thanking you For Visit

LOCATION

LOCATION
BALBHAVAN JABALPUR