संदेश

फ़रवरी, 2017 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

संभागीय बालभवन, जबलपुर

कार्यालय संचालक संभागीय बाल - भवन      ( म.बा.वि.  )  जबलपुर 383 जवाहरगंज वार्ड में रोड गढ़ाफाटक, जबलपुर फोन  :-  07999380094,  balbhavanjbp@gmail.com :::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::   // संक्षेपिका //  “संभागीय बालभवन जबलपुर मध्यप्रदेश के उन्नयन विषयक” भाग  01 सामान्य-परिचय जबलपुर जिले में संभागीय बालभवन की स्थापना मई 2007 से संचालित है. इसमें 2019 के लिए  900 बच्चों का पंजीयन पूर्ण हो चुका है .   1.                उद्देश्य :-   बच्चों में सृजनात्मकता को बढ़ावा    देने के लिए ऐसी गतिविधियों का संचालन करना जिससे    बच्चों की सृजनशीलता की पहचान कर   “ उनकी अभिरुचि अनुसार सृजनक्षमता को समुचित अवसर दिया जा सके . ” 2.                लक्ष्य :-   “ आयुवर्ग 05 से 16 वर्ष तक के बालक-बालिकाओं को संगीत चित्रकला ,  कम्प्यूटर प्रशिक्षण ,  खेलकूद ,  अभिनय ,  साहित्य- सृजनात्मक साहित्य    लेखन गद्य-पद्य व्यक्तित्व विकास संवाद एवं सम्प्रेषण ,   मार्शल आर्ट   आदि का प्रशिक्षण उनकी अभिरुचि के अनुसार देकर उनको विधा/योग्यतानुसार मंच प्रदान कराना   तथा   बालिकाओं को

मिल बांचें : मध्यप्रदेश - आकांक्षा बैगा के सपने अब मेरे सपने हो गए

चित्र
“मिल बांचें मध्यप्रदेश” जबलपुर से 54 किलोमीटर  दूर बम्हनी  पंचायत में तीन गाँव हैं बम्हनी, बासनपानी धवई, बासनपानी ग्राम के ईजीएस स्कूल   मेरे आकर्षण का कारण इस वज़ह से  है क्योंकि यह स्कूल दूरस्थ पहाड़ी इलाके में स्थित किसी गुरुकुल का एहसास देता है . बम्हनी पंचायत के  आदिवासी बाहुल्य गाँव बासनपानी स्थित ईजीएस स्कूल डायस क्रमांक 23390100501 की दर्ज संख्या 41 है उपस्थिति अक्सर 25 से 35 के आसपास रहा करती है. आज मुझे 26 बच्चों से मुलाक़ात हुई   शिक्षिका श्रीमती जमना राजपूत के अनुसार स्कूल में अनुपस्थिति अभिभावकों के  रोज़गार-प्रवास की वज़ह से हुआ करती है.  इस बात की तस्दीक आंगनवाडी कार्यकर्ता की . स्कूल में बच्चों से बातचीत के दौरान पूरे स्कूल की सबसे अधिक ज्ञान रखने वाली कु. आकांक्षा बैगा ने मेरे हर सवाल का ज़वाब दिए. आकांक्षा जानती है कि निर्जलीकरण क्या है. दस्त की बीमारी के लिए ज़रूरी  ओआरएस के साथ जिंक की गोलियाँ आँगनवाड़ी केंद्र पर या ग्राम आरोग्य केंद्र पर मिलती है. उसे प्रदेश के मुख्यमंत्री जी, और प्रधानमंत्री जी  का नाम भी याद है.  इतना ही नहीं बालिका आकांक्षा बैगा को अखबार पढ़न

अंकल, स्ट्रीट टीजिंग करने वालों की साय्कोलाजी क्या होती है

चित्र
जबलपुर 5 फरवरी 2017          बालभवन के बच्चों कोड रेड दस्ते के बीच हुए संवाद उन्मुक्त पारिवारिक संवाद हुआ. बेटियों ने कोड रेड से ये तक पूछ लिया – “अंकल, स्ट्रीट टीजिंग करने वालों की टीजिंग के वक्त साय्कोलाजी क्या होती है.”     इस जटिल से सवाल का बड़ी चतुराई से उत्तर देते हुए कोड रेड प्रभारी श्री अनुराग पंचेश्वर ने कहा –“बेशक उनकी सायाकोलाज़ी पाजिटिव तो नहीं होती परन्तु वे अंदर से बेहद कमज़ोर अवश्य होते हैं”      एक अभिभावक कहा – “कोडरेड पर शिकायत दर्ज करने के बाद शोहदों को जमानत अथवा सज़ा से छूटने की स्थिति में शिकायतकर्ता को  भय बना रहता है..?”   कोडरेड- “कोडरेड ऐसी कोई स्थिति नहीं बचने देती की अपराधी का अपराध साबित न हो सके फिर अगर हम पुलिस की मदद न लें तो अपराधियों के हौसले बुलंद होना स्वाभाविक है.”    गायिका किशोरी रंजना निषाद- “शोहदे छुरी चाकू जैसे असलहे लेकर घूमते हैं ...... ऐसी स्थिति में हम बेबस ही होतीं हैं न..?”    कोडरेड :- शोहदे आदतन ऐसा इस इस लिए करते हैं ..... क्योंकि वे हमेशा भयभीत रहते हैं ..... भयभीत केवल कमज़ोर व्यक्ति ही होता है... आप आत्मशक्ति

प्रतिभाओं को देखकर चकित हूं : श्रीमति सुमित्रा बाल्मिकी अध्यक्ष नगर निगम जबलपुर

चित्र
“बालभवन में जब भी आती हूं तब प्रतिभाशाली बच्चों की प्रतिभाओं को देखकर चकित रह जाती हूं। अर्तराष्ट्रीय राष्ट्रीय एवं प्रदेश स्तर पर यश अर्जित करने वाले बच्चों से मिलकर आज मैं बेहद प्रसन्न हूं। जबलपुर के लिए बालभवन एक महत्वपूर्ण एवं आवश्यक केन्द्र बनता जा रहा है जिससे मैं बेहद प्रभावित हॅूं”  - तदाशय के विचार श्रीमति सुमित्रा बाल्मिकी अध्यक्ष नगर निगम जबलपुर ने संभागीय बालभवन जबलपुर में आयोजित सरस्वती पूजन , वार्षिक उत्सव एवं पुरूस्कार सम्मान समारोह के दौरान दिये तथा श्रीमति बाल्मिकी ने उपस्थित जनों को आश्वत किया कि नगर निगम बालभवन के लिए भवन हेतु स्थान जगह उपलब्ध कराने के लिए प्रयत्नशील  रहेगा । कार्यक्रम की मुख्य अतिथि श्रीमति सुमित्रा बाल्मिकी , अध्यक्ष नगर निगम जबलपुर रही   जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता श्रीमति मनीषा लुम्बा संभागीय उपसंचालक महिला सशक्तिकरण जबलपुर ने की कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में श्रीमति नीलम मोदी , श्रीमति ज्योति उपाध्याय , श्रीमति माया भदौरिया , श्री साधना तिवारी , श्रीमति सुलभा बिल्लौरे उपस्थित रहीं।   संभागीय बालभवन जबलपुर द्वारा