संदेश

Featured Post

सेफ सिटी केंद्र प्रवर्तित योजना जबलपुर में क्रियान्वयन में तेजी

चित्र
आयुक्त महिला बाल विकास एवं यू एन विमेन के संयुक्त तत्वावधान में सेफ सिटी परियोजना जबलपुर में लागू कर दी गई है। इस संबंध में होटल कल्चुरी में आयोजित स्टेकहोल्डर्स का उन्नमुखीकरण कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए महिला बाल विकास विभाग संचालनालय के संयुक्त संचालक श्री सुरेश तोमर ने कहा कि-" महिलाओं बेटियों के लिए शहर को सुरक्षित बनाने के लिए यूएन वूमेन की मदद से प्रदेश में 6 जिलों का चयन किया है । जबलपुर शहर को इस परियोजना में सम्मिलित किया है। कार्यक्रम के प्रभावी बनाने के लिए सामुदायिक समन्वय एवं सहयोग की जरूरत है ताकि सामाजिक सोच के साथ संपूर्ण परिवर्तन संभव हो सके।"   संयुक्त संचालक श्रीमती शशि श्याम उईके ने कहा कि-" शहर को महिलाओं और बच्चियों की सुरक्षा अनुकूलित करने के लिए समन्वित एवं प्रभावी प्रयास करने के लिए अंतर विभागीय कन्वर्जेंस के साथ-साथ व्यक्तिगत रूप से प्रभावी कार्य करने की जरूरत है। कोविड-19 के उपरांत अब हम इस कार्य को और तेजी से करें इस हेतु माइक्रो प्लानिंग पूरी तरह से व्यवहारिक रूप से बनाई जाए।   इस अवसर पर जिला का

वीरांगना अवंति बाई लोधी का बलिदान : प्रो. आनंद राणा इतिहासकार,

चित्र
"प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में भारत का प्रथम बलिदान जबलपुर कमिश्नरी से वीरांगना रानी अवंतीबाई लोधी और वीरांगना फूलकुंवर का रहा 🙏🙏 आईये स्वतंत्रता के 75वें वर्ष के आलोक में गर्व और नमन् करें..अखिल भारतीय इतिहास संकलन योजना के मार्गदर्शन में  भारत के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम सन् 1857 की संपूर्ण भारत में किसी भी रियासत परिवार से प्रथम महिला शहादत(20 मार्च 1858) वीरांगना क्षत्राणी..रानी अवंतीबाई लोधी की रही है..तदुपरांत महा महारथी श्रीयुत शंकरशाह की वीरांगना सहधर्मचारिणी फूलकुंवर ने भी अंग्रेजों से युद्ध करते हुए प्राणोत्सर्ग किया। (क्योंकि झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई की शहादत 18 जून 1858 को और बेगम हजरत महल 7 अप्रैल 1879 - यहाँ यह भी स्पष्ट कर दूँ कि कित्तूर रियासत (कर्नाटक) की रानी चेन्नमा पहली वीरांगना थीं जिन्होंने 1829 में शहादत दी थी, परंतु यहाँ बात प्रथम स्वतंत्रता संग्राम सन् 1857 की हो रही (अवतरण दिवस 16 अगस्त सन् 1831)(कमिश्नरी जबलपुर, जिला मंडला, रियासत रामगढ़.. संस्थापक गोंड साम्राज्य के वीर सेनापति मोहन सिंह लोधी.. 681 गाँव, सीमायें अमरकंटक सुहागपुर

बालभवन स्वतन्त्रता दिवस 2021 के अवसर पर आयोजित प्रतियोगिताएं

चित्र
  *बालभवन स्वतन्त्रता दिवस 2021 के अवसर पर आयोजित* *प्रतियोगिताओं के तिथि घोषित*                                        जबलपुर दिनांक  03  अगस्त  2021              संभागीय बालभवन जबलपुर द्वारा आयोजित साहित्यिक संगीत   कला प्रतियोगिताओं के  लिए पंजीयन अनिवार्य है अत: पंजीयन के लिए अंतिम- तिथि 31 जुलाई 2021 से बढ़ाकर 7 अगस्त 2021 कर दी गई है । स्मरण हो कि संभागीय बालभवन जबलपुर द्वारा इस वर्ष कोविड-19 के कारण आन-लाइन प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है ।        साहित्यिक प्रतियोगिता अंतर्गत आयुवर्ग 10-16 वर्ष एवं 16 से 18 वर्ष (केवल बालिकाओं के लिए) नि:बंध प्रतियोगिता कविता लेखन एवं काव्य-पाठ ( 5 से 10 वर्ष  ,  10 से 16 वर्ष  ,  16 से 18 वर्ष ) काव्य पाठ के लिए वीडियो भेजना होगा ।          कला प्रतियोगिताओं में आयु वर्ग 10 से 16 वर्ष  ,  16 से 18 वर्ष के लिए पोट्रेट (जबलपुर जिले के किसी स्वतन्त्रता सेनानी / ऐतिहासिक व्यक्तित्व जैसे रानी दुर्गवती ,  रानी अवन्तीबाई  ,  दीवान आधार सिंह ,  शहीद गुलाब सिंह स्व॰ मुलायम चन्द्र जैन अथवा अन्य कोई जो प्रतिभागी को गया हो  )        चित्रकला - 5 से 1

full song Mask Lagayen | Singers Arjav & Shraddha dasgupta Music Dr. Shi...

चित्र
कोविड-19 को रोकने के लिए टीकाकरण और मास्क लगाना बहुत जरूरी है। आइए 8 साल के आर्जव सुल्लेरे एवम 9 साल की श्रद्धा दासगुप्ता  से सुनते हैं एक अपील जिसके लिरिक्स नीचे दिए हुए हैं इन लिरिक्स को संगीत वध किया है मशहूर म्यूजिक डायरेक्टर म्यूजिक गुरु डॉक्टर शिप्रा सुल्लेरे ने । सौभाग्य से यह गीत मेरे हाथों से बन गया है बीते पल फिर लौट न आएं आओ ऐसी जुगत लगाएं ।। छिपे हुए दुश्मन से बचने- भूलें न नित मास्क लगाएं ।। दिल से दूर नहीं है हम सब पर दूरी  अब मजबूरी है । उत्सव मुदिता मिलना जुलना कुछ दिन रोक ज़रूरी है ।। आत्म नियंत्रण करने वाला मन-मानस पर यन्त्र लगाएं ।।

संचालक महिला बाल विकास स्वाति मीणा नायक बात करेंगी महावारी स्वच्छता पर

 अंतर्राष्ट्रीय महावारी स्वच्छता दिवस के अवसर संचालक महिला बाल विकास श्रीमती स्वाति मीणा मैदानी अमले से ऑनलाइन चर्चा करेंगी…! जिला कार्यक्रम अधिकारी जबलपुर से प्राप्त सूचना अनुसार दिनांक 28 मई 2021 को विभाग द्वारा महावारी स्वच्छता के संबंध में विस्तृत कार्यक्रम का आयोजन किया गया है यह कार्यक्रम ऑनलाइन किया जावेगा। प्राप्त जानकारी अनुसार इस कार्यक्रम में सम्मिलित होने के मैदानी स्तर तक व्यवस्थाएं सुनिश्चितकर ली गई हैं ।  दोपहर 12:00 बजे से 2:00 बजे तक आयोजित इस कार्यक्रम में माहवारी स्वच्छता दिवस की आवश्यकता कोविड-19 के संदर्भ में महावारी चक्र एवं उसके प्रबंधन को समझना तथा सेनेटरी नैपकिन के उपयोग एवं रखरखाव तथा निपटान विषय पर श्रीमती अरुंधति लोकल फार वोकल पर केंद्रित आदिवासी बाहुल्य जिला डिंडोरी में तेजस्विनी योजना अंतर्गत निर्मित स्व सहायता समूह द्वारा बनाई जाने वाली सैनेट्री पैड यूनिट के महिलाओं के अनुभव साझा होंगे।इस अवसर पर माहवारी से संबंधित समस्याओं के उत्तर एवं समाधान किया जाएगा।ऑनलाइन कार्यक्रम में श्रीमती स्वाति मीणा नायक संचालक महिला बाल विकास श्रीमती प्रज्ञा अवस्थी संयुक्त सं

राष्ट्रीय कला उत्सव : बालभवन जबलपुर की अनुष्का सोनी ने प्रदेश को गौरवान्वित किया

चित्र
हमारे जबलपुर संस्कारधानी के लिए अत्यंत  गौरवपूर्ण क्षण  आज दिनांक 28 जनवरी 2021 को पूर्वान्ह 11:00 बजे केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय कैबिनेट मिनिस्टर महोदय डॉक्टर रमेश पोखरियाल निशंक  द्वारा घोषित राष्ट्रीय कला उत्सव के 18 प्रतियोगिताओं के परिणामों में मध्य प्रदेश से शास्त्रीय संगीत कला संकाय में और जबलपुर की अनुष्का सोनी  आत्मजा श्रीमती कामिनी सोनी  एवं श्री  सजल सोनी ( विद्यालय डीपीएस हायर सेकेंडरी स्कूल मंडला रोड ) एवं बाल भवन जबलपुर की संगीत छात्रा ने सितार वादन प्रस्तुत करते हुए पूरे भारत में तृतीय स्थान अर्जित किया है इस प्रतियोगिता में जिला संभाग तथा राज्य स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करते हुए राष्ट्रीय स्तर पर सहभागिता की। मध्य प्रदेश से कुल 39 प्रतिभागियों ने सहभागिता की थी यह विद्यार्थी जिले स्तर से राज्य स्तर तक प्रथम आते हुए ऑनलाइन माध्यम से अंत में राष्ट्रीय स्तर पर मध्य प्रदेश आरसीबी नरोना एकेडमी के थिएटर से शामिल हुए अपनी प्रतिभा और प्रस्तुति के बेहतर प्रदर्शन के तहत आपको यह स्थान प्राप्त हुआ है मध्यप्रदेश शासन स्कूल शिक्षा विभाग संभागीय संयुक्त संचालक ज

बाल अपराधों के संदर्भ में आपसी तालमेल बेहद जरूरी है : श्रीमती गिरिबाला सिंह, सदस्य सचिव राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण

चित्र
बाल अपराधों के संदर्भ में आपसी तालमेल बेहद जरूरी है : श्रीमती गिरिबाला सिंह, सदस्य सचिव राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर 21 जनवरी 2021 "बाल अपराधों के परिपेक्ष में भारत में प्रभावी कानूनी व्यवस्थाएं हैं एकीकृत बाल संरक्षण अधिनियम एवं बच्चों के विरुद्ध लैंगिक अपराध जैसे कानूनों के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए पुलिस एवं महिला बाल विकास विभाग का आपसी एवं प्रभावी समन्वय अत्यंत आवश्यक है । इन कानूनों में दोनों विभागों को बेहद संवेदनशीलता के साथ कार्य करना चाहिए। तथा से के विचार श्रीमती गिरीबाला सदस्य सचिव राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण ने मुख्य अतिथि के रूप में व्यक्त किए। इस अवसर पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री शरद भामकर ने भी दोनों कानूनों के क्रियान्वयन के विभिन्न पहलुओं पर विस्तार से चर्चा की। *होटल कलचुरी में आयोजित बच्चों के अधिकार एवं पुलिस की भूमिका विषय पर केंद्रित इस कार्यशाला का विषय प्रवर्तन श्री संजय अब्राहम सहायक संचालक ने किया ।*   बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के ब्रांड एंबेसडर कुमारी उन्नति तिवारी ने कार्यक्रम का संचालन किया ।     इस अवस