पोस्ट

अक्तूबर, 2017 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

बालभवन के बच्चे दिल्ली में बिखेरेंगे बुन्देली संस्कृति के रंग

इमेज
             संभागीय बालभवन जबलपुर का 6 सदस्यीय  सांस्कृतिक दल बुंदेलखंड की लोक-कलाओं का प्रदर्शन नई दिल्ली, स्थित  राष्ट्रीय बालभवन में करेंगे. इस वर्ष दिनांक 14 से 16 नवम्बर 17 तक चलने वाली राष्ट्रीय-बाल सभा एवं शिविर के लिए बालभवन से डाक्टर शिप्रा सुल्लेरे एवं तबला गुरु श्री सोमनाथ सोनी की देखरेख में  क्रमश: उन्नति तिवारी, पलक गुप्ता, राजवर्धन सिंह , तथा आशुतोष रजक को चयनित कर भेजा जा रहा है. जहां सांस्कृतिक दल द्वारा बुन्देली लोक-गीत-संगीत का कोलाज़ (गज़रा) , गिरीश बिल्लोरे द्वारा लिखित एवं श्री संजय गर्ग द्वारा निर्देशित रानी दुर्गावती एवं  दीवान आधार सिंह के मध्य अकबर के दरबार में जाने के पूर्व हुए संवाद का  लघु नाट्य रूपांतरण , तथा इंद्र पाण्डेय एवं कुमारी रुची केशरवानी  द्वारा निर्देशित बुन्देली  लोकनृत्यों का फ्यूज़न प्रस्तुत करेंगें. इस वर्ष सुश्री रेशम ठाकुर के मार्गदर्शन में बुन्देली शैली के वैवाहिक एवं अन्य शुभ अवसरों पर बनाई जाने वाली पेंटिंग विशेष रूप से तैयार कर भेजी जावेगी.