स्वच्छता अभियान पर केंद्रित कार्यक्रम आंगनवाड़ी केंद्रों पर प्रारंभ

जिला कार्यक्रम अधिकारी दमोह श्री अनिल जैन  दमोह नें किशोरी बालिकाओंं
को संदेश वाहक बनाया   
 आयुक्त  बाल विकास सेवाएं मध्य-प्रदेश द्वारा ज़ारी निर्देशानुसार     बाल स्वच्छता कार्यक्रम 2014 के अंतर्गत जिले के समस्त आंगनबाड़ी केन्द्रों पर बाल दिवस पर विशेष कार्यक्रमों का आयोजन किया गया जा रहा है . इस क्रम में बाल विकास सेवा विभाग के सभी जिलों में निरंतर कार्य किया जाकर स्वच्छता अभियान पर केंद्रित विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है. 
          डिंडोरी जिले की जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रीमति कल्पना तिवारी रिछारिया ने बताया कि - "जिले में स्वच्छता के परिपेक्ष्य में बच्चों के बीच किया जाने वाला कार्य अन्य जिलों की अपेक्षा ज़रा हट कर है. उनका मानना है कि डिंडोरी जिला दुरूह मार्गों आदिवासी बाहुल्य जनसंख्या के साथ साथ सबसे कम घनत्व वाली आबादी वाला है अत: हमने सबसे पहले सबसे दूर के गावों को सर्वोच्च प्राथमिकता पर रखकर कार्ययोजना तैयार की है. जहां हम बच्चों के साथ साथ महिलाओं के बीच पहुंचकर स्वच्छता के संदेश व्यक्तिश: पहुंचाने के उद्देश्य से स्थानीय बोली भाषा में संदेश दे रहे हैं . इतना ही नहीं हम सभी विभागों का सहयोग ले रहे हैं. साथ ही सम्भागीय बालभवन के सौजन्य से सांस्कृतिक कार्यक्रम के ज़रिये स्वच्छता के संदेश प्रसारित करेंगें   "
श्रीमति कल्पना तिवारी रिछारिया ने अमरपुर ब्लाक के सक्का में
उपस्थिति स्वच्छता की स्तिथि का जायज़ा लिया 
         दमोह जिले में  बाल कल्याण परिषद भोपाल द्वारा प्रेषित थीम बेटी की मुस्कान देश की शान विषय पर कलेक्टर श्री स्वतंत्र कुमार सिंह के मार्गदर्शन में स्थानीय जसवंतलाल प्रहलादभाई बीड़ीवाला शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय दमोह में कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। जिला कार्यक्रम अधिकारी आईसीडीएस अनिल जैन द्वारा राज्यपाल श्री रामनरेश यादव के संदेश का एवं विद्यालय की प्राचार्य श्रीमती शमा बेग द्वारा प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के संदेश का वाचन विद्यालय की छात्राओं एवं स्टाफ की उपस्थिति में किया गया। जिला कार्यक्रम अधिकारी आईसीडीएस द्वारा आंगनबाड़ी चलो अभियान एवं बाल स्वच्छता अभियान 01 से 19 नवंबर 14 को आयोजित गतिविधियों की जानकारी देते हुए आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से दी जाने वाली विभागीय सेवाओं की जानकारी प्रदान की गई साथ ही आंगनबाड़ी केन्द्र पर किशोरी बालिकाओं के कौशल उन्नयन एवं विकास हेतु व्यवसायिक प्रशिक्षण के द्वारा बालिकाओं को आत्मनिर्भर बनने की गतिविधि से अवगत कराया गया एवं देश की बेटी की मुस्कान से ही देश की शान से विषय पर विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई। विद्यालय में आयोजित बाल पखवाड़ा कार्यक्रम में विजयी छात्राओं को विद्यालय प्राचार्य एवं जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा पुरस्कार  प्रदान किये गए ।
          

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मध्यप्रदेश के बाल भवनों मैं ऑनलाइन एडमिशन एवं प्रशिक्षण की व्यवस्था प्रारंभ

महिला बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित पोषण सभा में पहुंचे माननीय मुख्यमंत्री कमलनाथ जी

बालगीत