ग्रीष्मकालीन शिविर के लिए पंजीयन शुरू हुआ



प्रदर्शनकारी सृजनात्मक कलाओं में दक्ष बनेंगे बच्चे

ग्रीष्मकालीन शिविर के लिए पंजीयन शुरू हुआ

जबलपुर 23 मार्च 2015
            अपने बच्चे को प्रदर्शनकारी व सृजनात्मक कलाओं में दक्ष बनाने तथा उसमें खेल-कूद एवं विज्ञान के प्रति दृष्टिकोण का विकास सुनिश्चित करने के इच्छुक अभिभावक संभागीय बाल भवन में सम्पर्क कर सकते हैं। बाल भवन केसरवानी कालेज के आगे, छोटी मस्जिद के सामने स्थित है और यहां प्रात: 10.30 बजे से शाम 5 बजे तक सम्पर्क किया जा सकता है। बाल भवन में 5+ से 16 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों (बालिकाओं के लिए आयु सीमा 18 वर्ष) को प्रशिक्षण दिया जाता है।
          संचालक बाल भवन श्री गिरीश बिल्लोरे ने बताया कि बाल भवन जबलपुर द्वारा प्रदर्शनकारी एवं सृजनात्मक कलाओं तथा खेल-कूद आदि के लिए ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण कार्यक्रमों हेतु पंजीयन आरंभ कर दिए गए हैं। अपने बच्चों को इन प्रशिक्षणों का लाभ दिलाने के इच्छुक अभिभावक बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र, दो फोटोग्राफ, घर के पते के प्रमाण के रूप में आधार कार्ड/राशन कार्ड/ड्रायविंग लायसेंस/वोटर आईडी में से कोई एक दस्तावेज तथा पंजीयन शुल्क साठ रूपए के साथ संचालक बाल भवन से सम्पर्क कर सकते हैं। पंजीयन शुल्क केवल साठ रूपए है तथा प्रशिक्षण के लिए अन्य कोई शुल्क नहीं लिया जाता। उल्लेखनीय है कि बच्चों को राष्ट्रीय बालश्री प्रतियोगिता तथा अन्य राष्ट्रीय, राज्य स्तरीय, संभाग स्तरीय एवं जिला स्तरीय स्पर्धाओं में भाग लेने के अवसर भी सुलभ कराए जाते हैं।
विशेष श्रेणी के बच्चों के लिए विशेष सुविधाएं
          श्री बिल्लोरे ने जानकारी दी कि कमिश्नर जबलपुर के निर्देशानुसार इस वर्ष से नेत्रहीन, मूकबधिर, मानसिक रूप से अविकसित, शारीरिक विकलांग और अनाथ बच्चों को प्रदर्शनकारी कलाओं एवं सृजनात्मक कलाओं व खेल-कूद आदि के प्रशिक्षण के लिए विशेष चयन कार्यक्रम निर्धारित किया गया है। प्रशिक्षण कार्यक्रमों के लिए शैक्षिक एवं आवासीय संस्थाएं भी आवेदन कर सकती हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बालभवन स्वतन्त्रता दिवस 2021 के अवसर पर आयोजित प्रतियोगिताएं

वीरांगना अवंति बाई लोधी का बलिदान : प्रो. आनंद राणा इतिहासकार,

मुख्यमंत्री निवास पर लाडो-अभियान की ब्रांड एम्बेसडर ईशिता विश्वकर्मा का गाया गीत “बापू मैं तेरी लाडो हूँ ...”