वैज्ञानिक एवं चिकित्सकीय महत्व के कारण योग वैश्विक रूप से स्वीकारा : योगाचार्य सुश्री सुशीला पटेल

 प्रथम विश्व योग दिवस के अवसर पर संभागीय बाल भवन जबलपुर में  योग क्रियाएँ योगाचार्य सुश्री सुशीला पटेल के मुख्य आतिथ्य एवं मार्गदर्शन में सम्पन्न हुआ ।  कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए योगाचार्य सुश्री सुशीला पटेल ने योग के महत्व एवं भारतीय योग प्रणाली को  स्वास्थ्य एवं मानसिक शांति का मूल साधन बताते हुए कहा कि- “ योग के वैज्ञानिक एवं चिकित्सकीय  महत्व के कारण इसे वैश्विक रूप  से स्वीकारा गया है एवं  मान्यता प्राप्त हुई है जो हमारे लिए गौरव का कारण  है विषम पर्यावरण एवं प्रदूषित वायुमंडल में जीवन को बचाए रखने के संसाधन एवं तकनीकी के रूप में योग क्रियाओं को देखा जा रहा है ।”
                  योग प्रशिक्षक आचार्य  श्री देवेन्द्र यादव  के अनुसार – योग क्रियाओं की निरंतरताऔसत  स्वस्थ्य आयु  में वृद्धि होगी लोग स्वास्थ्य रहेंगे . कार्यक्रम के अंत में प्रमाण-पत्र एवं स्वल्पाहार वितरण किया गया .  
फोटो लिंक :-  




टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मध्यप्रदेश के बाल भवनों मैं ऑनलाइन एडमिशन एवं प्रशिक्षण की व्यवस्था प्रारंभ

महिला बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित पोषण सभा में पहुंचे माननीय मुख्यमंत्री कमलनाथ जी

बालगीत