“शारदे माँ शारदे मन को नवल विश्वास दे के अनुगायन के साथ बालभवन में सरस्वतिपूजन संपन्न"



सम्पूर्ण कलाओं की अधिष्ठात्री एवं ज्ञानदेवी माँ सरस्वती का पूजन आज बालभवन परिसर में बच्चों एवं शिक्षकों द्वारा पूर्ण आस्था एवं श्रद्धा के साथ संपन्न की . इस अवसर पर स्टाफ एवं बच्चों के साथ कार्यक्रम की मुख्यअतिथि श्रीमति मनीषा लुम्बा एवं विशिष्ठ  अतिथि श्रीमती सुलभा बिल्लोरे, सुश्री शिप्रा सुल्लेरे, श्रीमती रेणु पांडे, श्री इंद्र पांडे, श्री सोमनाथ सोनी, श्री देवेन्द्र यादव, श्री टी.आर. डेहरिया, सहित संचालक  ने वाद्ययंत्रों की पूजन की . बालभवन के बालकलाकार मास्टर अभय सौंधिया  द्वारा निर्मित मिट्टी  से बनाई  सरस्वती प्रतिमा एवं कुमारी सुनीता केवट द्वारा माँ सरस्वती का चित्र पूजन   के साथ साथ मास्टर अक्षय ठाकुर, सेजल तपा, मुस्कान सोनी, इशिता तिवारी, साक्षी गुप्ता , शालिनी अहिरवार, आयुष रजक शैवलिन द्विवेदी, प्रिया सौंधिया, आदि ने सरस्वती वन्दना, आध्यात्मिक सुगम संगीत, एवं सर्वधर्म समभाव पर केन्द्रित गीत प्रस्तुत किये .
लिंक यहाँ "मिसफिट पर "
दिव्य चिंतन नीर अविरल  गति  विनोदित  देह  की !
छब तुम्हारी शारदे मां  सहज सरिता   नेह की !!
घुप अंधेरों में फ़ंसा मन  ज्ञान  दीपक बार   दे …!!
 शारदे मां शारदे मन को धवल  विस्तार दे
मां तुम्हारा चरण-चिंतनहम तो साधक हैं अकिंचन-
डोर थामो मन हैं चंचल,  मोहता क्यों हमको  कंचन ?
ओर चारों अश्रु-क्रंदन,    सोच को विस्तार  दे…!!
शारदे मां शारदे मन को धवल  विस्तार दे !!


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बालभवन स्वतन्त्रता दिवस 2021 के अवसर पर आयोजित प्रतियोगिताएं

वीरांगना अवंति बाई लोधी का बलिदान : प्रो. आनंद राणा इतिहासकार,

मुख्यमंत्री निवास पर लाडो-अभियान की ब्रांड एम्बेसडर ईशिता विश्वकर्मा का गाया गीत “बापू मैं तेरी लाडो हूँ ...”