अपूर्वा ने उड़ाई कार नेत्र दिव्यांग कवयत्री माया को मिली सराहना

 (राष्ट्रीय बालश्री चयन शिविर में जबलपुर के बच्चे छाए)

राष्ट्रीय बालश्री चयन शिविर में बालभवन जबलपुर की बाल विज्ञानी  अपूर्वा को उड़ने वाली कार बनाने का प्रयोग मिला । देश के विभन्न भागों से आये बच्चों एवं अपूर्वा को कार बनाने सामग्री दी गई जिसमें से उपयोगी सामग्री चुनना था । अपूर्वा ने सामग्री का चुनाव करते समय उड़ने वाली कार बनाने के लिए एक गुब्बारा भी लिया । कार बनाई और उस पर गुब्बारा फुला कर बांधा । फिर गुब्बारे का वह हिस्सा भी छोड़ दिया जिससे हवा धीरे धीरे नीचे से निकली और गुब्बारे के साथ कार ऊपर उठी ।
         अपूर्वा सौर ऊर्जा को उपग्रह में एकत्र कर  तरंगों से पृथ्वी पर लाकर बिजली उत्पादन की सलाह भी दे चुकी हैं . स्मरण हो कि इस वर्ष जबलपुर बालभवन से 09 बच्चे राष्ट्रीय शिविर के लिए चयनित हुए हैं  
1.    कु.   मनु कौशल ,तबला
2.    श्रेया खंडेलवाल, अभिनय
3.    प्रवीन उद्दे          गायन , विशेष श्रेणी नेत्र दिव्यांग
4.    आकाश कोहली  पेंटिंग , विशेष श्रेणी, [बालग्रह]
5.    सृष्टि गुप्ता          संवाद-लेखन,
6.    अभय सौंधिया    मूर्तिकला.
7.    कुमारी माया पटेल कविता-लेखन, विशेष-श्रेणी नेत्र दिव्यांग
8.    कुमारी अपूर्वा गुप्ता विज्ञान-माडल
9.    सौम्य नागवंशी विज्ञान माडल विशेष श्रेणी, अस्थि दिव्यांग
      दिल्ली में संपन्न दो दिवसीय शिविर के पहले दिन नेत्र दिव्यांग कवयत्री कु. माया पटेल एवं नेत्रदिव्यांग प्रवीण उद्दे के साथ कु. मनु कौशल, श्रेया खंडेलवाल सहित सभी प्रतिभागियों को बेहद सराहा गया . बालभवन जबलपुर की टीम को देश भर से राष्ट्रीय बालभवन नई दिल्ली पहूँ

चे बच्चों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्द्धा से गुज़रना है .

  

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मध्यप्रदेश के बाल भवनों मैं ऑनलाइन एडमिशन एवं प्रशिक्षण की व्यवस्था प्रारंभ

महिला बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित पोषण सभा में पहुंचे माननीय मुख्यमंत्री कमलनाथ जी

बालगीत