मातृभूमि के सच्चे बेटों की करना रक्षा हे भगवान !! : उन्नति तिवारी


देश के सैनिक
सूरज ऊगे सूरज डूबे  ,
हर क्षण मेहनत करते सैनिक .
इस देश की रक्षा की खातिर,
हर दर्द सहज हो सहते  सैनिक.

चाहे ठंड रहे , या  धूप रहे. 
या बादल गीली बात कहे ,
रुकते न कभी ये वीर सिपाही  ,
ऋतु  ऋतु के तीखे वार सहें .

देश प्रेम के  भाव भरे मन
नहीं है थकते उनके तनमन,
सियाचीन लद्दाख समंदर ,
इनके लिए खेल के आँगन  .

मां बाबा बेटी बेटों को 
छोड़ गाँव गलियाँ खेतों को
मातृभूमि की आन बचाने  
नापा करते परबत खेतों को   

सुखी नींद की वजह है सैनिक,
निर्भयता की वजह है सैनिक .
इनका कर्ज़ चुकाऊँ कैसे- 
देव तुल्य भारत के सैनिक 

सदा करें हम इन्हें सलाम,
सदा कहें जय वीर जवान.
मातृभूमि के सच्चे बेटों की
रक्षा करना हे भगवान !

            - #उन्नति_तिवारी

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बालभवन स्वतन्त्रता दिवस 2021 के अवसर पर आयोजित प्रतियोगिताएं

वीरांगना अवंति बाई लोधी का बलिदान : प्रो. आनंद राणा इतिहासकार,

मुख्यमंत्री निवास पर लाडो-अभियान की ब्रांड एम्बेसडर ईशिता विश्वकर्मा का गाया गीत “बापू मैं तेरी लाडो हूँ ...”