संभागीय बाल भवन जबलपुर ने किया अपनी पूर्व छात्रा का सम्मान

    महिला बाल विकास विभाग द्वारा संचालित लाडो योजना की पूर्व ब्रांड एंबेसडर विभिन्न रियलिटी शो की विजेता संभागीय बाल भवन जबलपुर से संगीत का सफर शुरू करने वाली गायिका कुमारी इशिता विश्वकर्मा का स्वागत सम्मान संभागीय बाल भवन द्वारा किया गया। इस अवसर पर इशिता विश्वकर्मा द्वारा संस्थान में प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले  बाल कलाकारों से वार्ता की तथा उन्हें बताया कि संगीत साधना कोई आसान साधना नहीं है। बार-बार किए जाने वाले प्रयास ही सफलता की चाबी है। इस अवसर पर गिरीश बिल्लोरे  संचालक संभागीय बाल भवन ने बताया कि-" इशिता ने अपने प्रशिक्षण काल में राज्य शासन की योजनाओं के लिए एल्बम में कई गीत गाए हैं। इशिता हमेशा अपनी संस्था गुरु एवं अपने मार्गदर्शक के अलावा अपने साथियों के बीच सहज एवं समर्पित छात्रा के रूप में पहचानी जाती रही हैं। इशिता को मध्यप्रदेश शासन महिला बाल विकास द्वारा बाल विवाह रोकने चलाए जाने वाले लाडो अभियान के ब्रांड एंबेसडर के रूप में नियुक्त किया था। इशिता द्वारा मतदाता जागरूकता अभियान स्वच्छता अभियान एवं महिला सशक्तिकरण पर केंद्रित गीतों का गायन किया गया। इस अवसर पर इशिता की माता श्रीमती तेजल विश्वकर्मा ने कहा कि हम मध्यप्रदेश शासन एवं महिला बाल विकास विभाग के साथ-साथ संभागीय बाल भवन के प्रति कृतज्ञ हैं जिनके सहयोग एवं मार्गदर्शन से इशिता आज गायन के क्षेत्र में प्रतिष्ठित हो सकी है। इस अवसर पर इशिता की गुरु डॉक्टर शिप्रा सुल्लेरे, के साथ-साथ डॉ रेनू पांडे श्रीमती सुलभा बिल्लोरे श्रीमती विजय लक्ष्मी अईयर, श्रीमती मीना सोनी श्रीमती मोहिनी मोघे, श्री देवेंद्र यादव सोमनाथ सोनी ने इशिता एवं श्रीमती तेजल विश्वकर्मा को शाल श्रीफल एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।
  इस अवसर पर सुप्रसिद्ध लाडो बैंड के सदस्य बालिकाएं, नृत्य गुरु श्री धीर पाखुरिया, प्रसिद्ध कंपेयर अमित परनामी की उपस्थिति उल्लेखनीय रही ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बालभवन स्वतन्त्रता दिवस 2021 के अवसर पर आयोजित प्रतियोगिताएं

वीरांगना अवंति बाई लोधी का बलिदान : प्रो. आनंद राणा इतिहासकार,